सरकारी शालामा नवी भारती पहेला जिलाफेरबदली अरजी मेकलावा बाबत नो न्यूज रिपोर्ट

शिक्षक ज्ञान, समृद्धि और प्रकाश का एक बड़ा स्रोत होता है जिससे कोई भी जीवनभर के लिये लाभ प्राप्त कर सकता है। वो हरेक के जीवन में वास्तविक प्रकाश के रुप में होते हैं क्योंकि वो जीवन में उनका रास्ता बनाने के लिये विद्यार्थियों की मदद करते हैं। वो किसी व्यक्ति के जीवन में प्रभु का दिया हुआ एक उपहार होते हैं जो बिना किसी स्वार्थ के हमें सफलता की ओर उन्मुख करते हैं। वास्तव में, शिक्षा के माध्यम से हमारे राष्ट्र के चकित कर देने वाले भविष्य के निर्माता के रुप में हम उन्हें बुला सकते हैं।
शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं जो एक अच्छे व्यवहार और नैतिकता के व्यक्ति के लिये बहुत अच्छे से विद्यार्थी को शिक्षित करते हैं। वो विद्यार्थी को अकादमिक रुप से बेहतरीन बनाते हैं और जीवन में हमेशा अच्छा करने के लिये प्रोत्साहित करते हैं। वो विद्यार्थी को ज्ञान, कौशल और सकारात्मक व्यवहार से सज्जित करते हैं जिससे विद्यार्थी कभी खोया हुआ महसूस नहीं कर सकता और आगे बढ़ता है। स्पष्ट दृष्टिकोण और विचारों के माध्यम से शिक्षा के उनके लक्ष्य के बारे में वो विद्यार्थियों को हमेशा समझाते रहते हैं। बिना शिक्षक के जीवन में कोई भी मानसिक, सामाजिक और बौद्धिक रुप से विकास नहीं कर सकता है।
एक शिक्षक एक अच्छा इंसान है जो किसी युवा और अतिसंवेदनशील बच्चों के जीवन को बनाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी लेता है। अपने विद्यार्थियों को सही दिशा में शिक्षित करने के द्वारा एक शिक्षक अच्छा एहसास, गर्व और खुशी की अनुभुति कराता है। वो कभी-भी अपने अच्छे और बुरे विद्यार्थियों में भेद-भाव नहीं करता है बल्कि अपने प्रयासों से कमजोर बच्चों को भी सही रास्ते पर ले आता है। एक महान शिक्षक वो होता है जो अपने विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिये अपना पूरा जीवन दे देता है। वो सभी विद्यार्थियों को अच्छा बनाने के लिये आगे बढ़ाता है। शिक्षक सीखने की प्रक्रिया को बहुत रोचक और रचनात्मक बना देता है। पढ़ाई की ओर सकारात्मक रुप से प्रेरित करने के द्वारा शिक्षक सभी विद्यार्थियों को सही रास्ते पर लाने के लिये अपना उत्तम प्रयास करते हैं। अच्छा शिक्षक एक अच्छा प्रभाव बच्चों पर छोड़ता है।
शिक्षक, कई बार बच्चों को उनके अच्छे कार्यों के लिये पुरस्कृत भी करते हैं जबकि कई बार उन्हें गलती का एहसास कराने के लिये सजा भी देते हैं जिससे बच्चे समझ सकें ये उनके जीवन के लिये ठीक नहीं है। वो अपने विद्यार्थियों को सही और गलत के बीच में भेद करना सिखाते हैं जिससे गलत से लड़ने के बजाय वो अपने जीवन में सही कदम को चुन सकते हैं। शिक्षक समझते हैं कि सभी विद्यार्थियों के ग्रहण करने की एक सी क्षमता नहीं होती, इसलिये वो उन्हें अलग तरीके से समझाते हैं।
इस दुनिया में शिक्षक के पेशे को सबसे अच्छे और आदर्श पेशे के रुप में माना जाता है क्योंकि शिक्षक किसी के जीवन को बनाने में निस्वार्थ भाव से अपनी सेवा देते हैं। उनके समर्पित कार्य की तुलना किसी अन्य कार्य से नहीं की जा सकती। शिक्षक वो होते हैं, जो अपने सभी विद्यार्थियों का ध्यान रखते हैं। वो उनके खाने की आदत, स्वच्छता का स्तर, दूसरों से व्यवहार और पढ़ाई की ओर एकाग्रता की जाँच करते हैं। बच्चों को बीमारियों से बचाने के लिये वो हर हफ्ते अपने बच्चों के नाखूनों को कटवाते हैं जिससे स्वच्छता और साफ-सफाई की आदत को उनके अंदर बनाये रखा जा सके। शिक्षक स्कूलों में हर चौथे महीने में स्वास्थ्य कैंप का आयोजन करते हैं जिससे विद्यार्थियों का वजन, कद, बौद्धिक स्तर, रक्तचाप, हृदय गति, फेफड़ों की क्षमता, खून की जाँच, पेशाब की जाँच, छोटी माता प्रतिरक्षण, एमएमआर के लिये प्रतिरक्षा, चेचक, डीपीटी बूस्टर खुराक, पोलियो ड्रॉप आदि की नियमित जाँच हो सके और उनका स्वास्थ्य रिकार्ड रखा जाये।

No comments:

Get Update By Email