क्रिकेट में आया एक और नियम, क्या आपको पता है कि अगर आउट हुए तो

अंपायर फैसला समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) के तहत अब टीमों के लिए बड़ी राहत की बात है कि अंपायर कॉल फैसले पर अब वे अपने रिव्यू नहीं गंवायेंगी। एक अक्तूबर से यह फैसला लागू हो जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के मुख्य कार्यकारियों की समिति ने डीआरएस और अन्य सिफारिशों पर अपनी हरी झंडी दे दी है। आईसीसी की क्रिकेट समिति ने मई में ये सिफारिशें की थीं।




मंजूरी सिफारिशों में कई सिफारिशें डीआरएस से संबंधित हैं। अंपायर कॉल पर अब टीमें अपना रिव्यू नहीं गंवायेंगी। टेस्ट मैचों में 80 ओवर के बाद टीमों को फिर से बढ़े हुए रिव्यू नहीं मिलेंगे। डीआरएस का अब ट्वेंटी-20 फार्मेट में भी इस्तेमाल होगा।


समिति ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डीआरएस के इस्तेमाल के न्यूनतम मापदंडों को भी मंजूरी दे दी है। बॉल ट्रैकिंग और बल्ले के किनारे को पकड़ने वाली तकनीक का इस्तेमाल अनिवार्य कर दिया गया है। गेंद और बल्ले के बीच संतुलन बनाने के लिए बल्ले के आकार को लेकर सिफारिश भी मंजूर कर ली गयी है।


फुटबाल की तरह अब क्रिकेट अंपायरों को भी खिलाड़ियों के गंभीर दुर्व्यवहार के मामले में बाहर भेजने का अधिकार दे दिया गया है। रन आउट के मामले में एक परिवर्तन को मंजूरी दी गयी है। यदि बल्लेबाज क्रीज में पहुंच गया है और उसके बाद उसका बल्ला हवा में उठ जाता है तो उस स्थिति में उसे रनआउट नहीं दिया जायेगा।संदर्भ पढ़ें

No comments:

Get Update By Email